ART

सूचना और प्रसारण मंत्रालय

राज कपूर: द मास्टर एट वर्क” शोमैन राज कपूर के बारे में नहीं है, बल्कि उन ‘राज कपूर’ के बारे में है जो एक जुनूनी पेशेवर थे: इफ्फी-52 के इन-कन्वर्सेशन सत्र में फ़िल्मकार राहुल रवैल

“राज कपूर दुनिया के सबसे अच्छे शिक्षक थे, मैं ये किताब उन लोगों को समर्पित करता हूं जिनमें फ़िल्ममेकिंग सीखने की कभी न बुझने वाली प्यास है”

 

‘राज कपूर: द मास्टर एट वर्क’ ये किताब शोमैन राज कपूर के बारे में नहीं है, बल्कि उन ‘राज कपूर’ के बारे में है जो एक जुनूनी कर्मकार और पेशेवर थे। ये बात अनुभवी फ़िल्मकार और इस किताब के लेखक राहुल रवैल ने कही जो गोवा में 20 – 28 नवंबर के दौरान आयोजित 52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव (इफ्फी) में आज 24 नवंबर, 2021 को ‘इन-कन्वर्सेशन सत्र’ में हिस्सा ले रहे थे। इस सत्र में राज कपूर के बेटे और जाने माने अभिनेता-निर्देशक व निर्माता रणधीर कपूर भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर इस किताब के पोस्टर का अनावरण राहुल रवैल और रणधीर कपूर ने संयुक्त रूप से किया।

रवैल ने बताया कि दिवंगत अभिनेता ऋषि कपूर को समर्पित ये जीवनी 14 दिसंबर 2021 को राज कपूर की 97वीं जयंती के अवसर पर रिलीज होगी।

रणधीर कपूर ने दर्शकों को बताया कि ये किताब कितनी खास है। उन्होंने कहा, “मेरे पिता एक मास्टर स्टोरीटेलर थे। हालांकि उनकी विरासत पर कई किताबें लिखी जा चुकी हैं, लेकिन राहुल रवैल जिन्होंने मेरे पिता के साथ एक समृद्ध इतिहास साझा किया है, उनकी ये किताब कुछ खास है। उन्होंने कहा कि ये किताब बहुत अच्छी बन पड़ी है।

रवैल के अनुसार, ये किताब पाठकों को उस्ताद फ़िल्म शिल्पकार राज कपूर की फिल्म निर्माण शैली का एक व्यापक विवरण प्रदान करती है। ये किताब न सिर्फ उनकी प्रतिभा को टटोलने की कोशिश करती है बल्कि राज कपूर के पहले कभी न देखे गए पहलुओं को भी सामने लाती है। उन्होंने कहा, “मैं आज जहां हूं, उन्हीं की वजह से हूं। मेरी किताब में उनके जीवन के बहुत सारे वृतांत और किस्से हैं जो उनके मज़ाकिया स्वभाव, अंदरूनी बातों, अपने फ़िल्म क्रू के साथ उनके रिश्तों, भोजन के लिए उनके जबरदस्त चाव और रूस के प्रति उनके प्यार को उद्घाटित करते हैं।”

इन महान फ़िल्मकार के साथ घनिष्ठ रिश्ता रखने वाले रवैल ने कहा कि वे इस किताब को उन लोगों को समर्पित करना चाहते हैं जिनमें फ़िल्ममेकिंग के ज्ञान को लेकर कभी न बुझने वाली प्यास है। उन्होंने कहा, “राज कपूर दुनिया के सबसे अच्छे शिक्षक थे। मैंने उनसे जो शानदार चीजें सीखी हैं, उन्हें मैं कभी नहीं भूल सकता। फ़िल्ममेकिंग की उनकी शैली को विस्तृत तौर पर बयां करने के लिए खास तौर पर 10 अध्याय समर्पित किए गए हैं।”

लव स्टोरी, बेताब और अर्जुन जैसी उल्लेखनीय फ़िल्में बनाने वाले प्रसिद्ध निर्देशक राहुल रवैल ने कहा कि उन्हें ये कुबूल करने में कोई संकोच नहीं है कि उन्होंने अपनी कई फ़िल्मों में राज कपूर की अनूठी फ़िल्म शैली की नकल करने की कोशिश की थी।

इस किताब के लेखन को लेकर रवैल ने बताया कि उन्होंने रणधीर कपूर, दिवंगत ऋषि कपूर और श्रीमती कृष्णा कपूर के साथ इस पर चर्चा की थी। रवैल ने कहा, “उन्होंने मुझे ये कहते हुए अपनी मंजूरी दी कि जो राज जी के काम करने के तरीके को जानता है, सिर्फ वही उन पर कोई किताब लिख सकता है।”

आयोजन में मौजूद श्रोता ये जानने के लिए उत्सुक थे कि क्या वे ऋषि कपूर पर भी किताब की योजना बना रहे हैं। रवैल ने बताया कि प्रकाशकों ने उन्हें कपूर परिवार पर एक किताब लिखने जैसा सुझाव दिया है।

***

    Mohd Aman

    Editor in Chief Approved by Indian Government

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Back to top button